No icon

बहार से कर्मचारी बुलाकर स्थानीय लोगों का तबादला करने से टोल टैक्स कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन.

छत्तीसगढ़ के अंतिम छोर पर सरायपाली और बसना के लोगों के लिए उनकी जन्मभूमि, कर्मभूमि में नहीं बदल पा रही है, अपने ही जन्मभूमि में कार्य होने के बावजूद स्थानीय लोगों को हटाकर अन्य राज्य के लोगों को लाकर काम पर रखा जा रहा है.    

 

सरायपाली और बसना के मध्य राष्ट्रीय राजमार्ग 53 पर स्थित टोल प्लाजा पर बाहरी लोगों को तैनात करने पर वहां के स्थानीय कर्मचारियों ने आज जोगी कांग्रेस के प्रवक्ता अनामिका पॉल के नेतृत्व में जमकर प्रदर्शन किया.

 

टोल कंपनी बीएससीपीएल द्वारा कर्मचारियों का तबादला करने से कर्मियों का गुस्सा सातवें आसमान पर है, कर्मचारियों ने प्रदर्शन शांति पूर्वक किया, जहाँ बसना थाना प्रभारी लेखराम ठाकुर, भंवरपुर चौकी प्रभारी उमाकांत तिवारी के नेतृत्व में पुलिस बल तैनात रही.

कर्मचारियों ने बताया कि कई लोग बीते 3 साल से छुईपाली टोल प्लाजा पर नौकरी कर रहे हैं लेकिन, अचानक कंपनी ने उन्हें कहा कि उनका तबादला हो गया है, और अब उन्हें आन्ध्र प्रदेश जाना पड़ेगा.

 

कर्मचारियों का कहना है कि उनका वेतन नहीं बढ़ाया जा रहा है और उनकी जगह आंध्रप्रदेश के करमचारियों को लाकर उन्हें दुसरे प्रदेश किसी अन्य काम के लिए भेजा जा रहा है. जहाँ उन्हें किसी बहाने से काम पर से निकाल दिया जाएगा.

 

वहीँ अनामिका पॉल ने शासन-प्रशासन और बीएसईपीएल कंपनी से स्थानीय लोगों को रखने की मांग की है. आपको बता दें कि इसके पहले शासकीय शराब दुकानों में भी स्थानीय लोगों को निकालकर बाहरी लोगों को काम पर रखने का मामला सामने आ चूका है, जिनको हटाये जाने के बाद हड़ताल और आन्दोलन पर भी उन्हें वापस काम पर नहीं रखा गया था.

Comment As:

Comment (0)