No icon

आचार्य चाणक्य नीति

आचार्य चाणक्य के मुताबिक, अगर जीवन में सुख है तो दुख भी आएगा और दुख है तो सुख का आना भी उनका ही सत्य है। ।

अपनी इस नीति में आचार्य चाणक्य ने कहा है कि जिस दिन सामने वाले का काम निकल जाएगा, वो आपका साथ छोड़ देगा। अगर आपने एक छोटी गलती कर दी तो वह आपकी सभी अच्छाइयों को भूल जाएगा और आपका तिरस्कार करने में समय नहीं लगाएगा।

 

विश्वास और वजूद के बारे में बताया है। आचार्य चाणक्य की बातों का मतलब कि आप किसी के लिए कितनी भी भलाई क्यों न कर लें। वह तक ही आपका है जब तक आप उसके काम आ रहे हैं। जिस दिन आप उसके काम के नहीं आएंगे उस दिन वो आपकी सभी अच्छाइयों को भूल जाएगा

Comment As:

Comment (0)