No icon

चाणक्य नीति

आचरण

 

जो व्यक्ति दूसरों के लिए मन में गलत भावनाएं नहीं रखते हैं ऐसे लोग सबसे अच्छे माने जाते है। क्योंकि मनुष्य के जीवन में उसका आचरण, चरित्र काफी जरूरी माना जाना जाता है।

 

गुण

 

किसी को परखने की तीसरा तरीका है उसके गुण। हर व्यक्ति के अंदर कुछ गुण तो कुछ अवगुण होते हैं। अगर किसी व्यक्ति के अंदर झूठ बोलना, अहंकार दिखना, लोगों का अपमान करना जैसै अवगुण हो तो उससे तुरंत दूरी बना लेना चाहिए।

 

कर्म

 

किसी भी व्यक्ति को उसके कर्मों के द्वारा आसानी से जान सकते हैं कि वह अच्छा है कि बुरा। अगर कोई व्यक्ति गलत तरीके से धन अर्जित करता है, वह हर काम गलत तरीके से करता हैं तो ऐसे व्यक्ति से दूरी बना लें। क्योंकि गलत व्यक्तिओं का असर आपके जीवन पर भी बुरा पड़ सकता है।

 

त्याग

 

किसी भी व्यक्ति के बारे में जानने का सबसे पहला तरीका है कि उसके द्वारा त्याग करना। आचार्य चाणक्य के अनुसार जो व्यक्ति दूसरों के सुख में खुश हो और उसके दुख में अपने सुख का त्याग कर दें तो समझ लें कि वह अच्छा पुरुष है।

Comment As:

Comment (0)