No icon

आज घोषित होने जा रहा हैं बोर्ड परीक्षाओं के नतीजे विद्यार्थी और परिजन कर रहे है इंतजार।

जांजगीर चांपा: यह तो सभी को भलीभांति विदित है कि पिछले 2 सालों से अध्ययन अध्यापन कार्य बहुत बुरी तरह से प्रभावित हुआ है पहले कोरोना काल में माध्यमिक शिक्षा मंडल के द्वारा सभी को जर्नल प्रमोशन के तहत सत प्रतिशत पास होने का परीक्षा फल जारी कर दिया गया था लेकिन उसके बाद आए दूसरे संक्रमण काल में जिन विद्यार्थियों ने दसवीं और बारहवीं का अध्ययन अध्यापन किया वह पूरी तरह से आधा अधूरा शिक्षकीय ज्ञान पर विद्यार्थियों ने परीक्षा की अग्नि परीक्षा का सामना किया है यह सभी जानते हैं

 

यहां तक की अनेकों स्कूलों के अध्यापकों ने भी अन्य वर्ष की भांति इस वर्ष ली जाने वाली बोर्ड परीक्षाओं को लेकर नाराजगी भी जाहिर किया था मंडल चाहता तो यह परीक्षा दो माह विलंब से लेकर बच्चों को विशेष रूप से अध्यापन कराया जा सकता था लेकिन मंडल के द्वारा सब कुछ जानते समझते हुए भी मार्च माह में परीक्षा लिया जाना बच्चों के ऊपर किसी अत्याचार से कम नहीं कहा जा सकता इसके उपरांत भी यदि शिक्षा मंडल के द्वारा कडाई के साथ उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन किया गया होगा तो यह बच्चों एवं अभिभावकों के लिए किसी अग्निपरीक्षा से कम नहीं होगी यदि मंडल के द्वारा उत्तर पुस्तिका के निरीक्षकों को सहानुभूति पूर्वक उत्तर पुस्तिका जांचने का विशेष निर्देश दिया गया होगा तो

यह विद्यार्थियों के हित में होगा अन्यथा इस वर्ष अन्य वर्ष की भांति 10वीं तथा 12वीं के रिजल्ट अधिक खराब होने की संभावना व्यक्त की जा रही हैं कई विद्यार्थियों ने भी यह स्पष्ट किया कि वे स्कूल नहीं जा रहे थे और जब स्कूल गए तो स्कूलों में पर्याप्त पढ़ाई संबंधी कार्य नहीं होने से उन्हें कई कई बार यूं ही घर लौटना पड़ रहा था ऐसे हालात में समझा जा सकता है कि बच्चों ने कितने मन एवं दिल लगाकर पढ़ाई किया होगा

यदि इस पर गंभीरता पूर्वक माध्यमिक शिक्षा मंडल ने विचार-विमर्श करके उत्तर पुस्तिका का उदारता पूर्वक मूल्यांकन नहीं किया गया हो तो यह इस वर्ष का सबसे ज्यादा बोर्ड परीक्षाओं का रिजल्ट खराब आने से इनकार नहीं किया जा सकता इसी तथ्य को लेकर ज्यादातर विद्यार्थी एवं अभिभावक गंभीर आशंकाओं के दौर से गुजर रहे हैं जो आज शिक्षा मंडल सहित विद्यार्थी एवं अभिभावकों के लिए किसी एग्जाम फोबिया से कम नहीं होगाआखिरकार माध्यमिक शिक्षा मंडल के पिटारा से क्या कुछ निकलने वाला है

इसका फैसला अब से कुछ घंटा बाद होने ही वाला है और शिक्षा मंडल कोरोना काल में विद्यार्थियों के भविष्य को लेकर क्या रूपरेखा तैयार करते हुए उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कराया गया होगा इसका फैसला अब होने वाला है

Comment As:

Comment (0)